Top Stories
  • India
  • 10:26 AM
ओरमांझी युवती हत्याकांड: जिस महिला ने अपनी बेटी होने का किया था दावा उसकी बेटी लौट आई घर

ओरमांझी युवती हत्याकांड: जिस महिला ने अपनी बेटी होने का किया था दावा उसकी बेटी लौट आई घर

Ranchi: ओरमांझी के जीराबार जंगल से एक युवती का सिर कटा शव बरामद किया गया था. युवती की अबतक पहचान नहीं हो पाई है. जानकारी के अनुसार मंगलवार को सदर थाना क्षेत्र स्थित चेशायर होम रोड की रहनेवाली महिला ने जिस युवती का शव बरामद हुआ उसे अपनी बेटी का बताया था. इसी दौरान बुधवार को उसकी बेटी घर लौट आईं है. गौरतलब है कि महिला की सूचना के आधार पर पुलिस ने जब उस युवती के ब्वॉयफ्रेंड को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की तो उसने जानकारी दी कि उसकी दोस्त जीवित है और रांची के ही पिस्कामोड़ में रह रही है. इसके बाद पुलिस ने युवती को बरामद कर लिया.

50 हजार इनाम देने की घोषणा

युवती की अबतक पहचान नहीं हो पाई और ना ही अपराधियों का कोई सुराग मिला है. इस मामले में सुराग देने वाले को अब पुलिस अब 50 हजार का इनाम देगी. गौरतलब है कि युवती हत्याकांड की जांच के किए आईजी अखिलेश झा समेत कई अधिकारी मंगलवार को घटनास्थल पर पहुंचे. उन्होंने कहा सुराग देने वाले को 50 हजार इनाम देने की घोषणा की गई है, इससे पहले सोमवार को पुलिस ने इस मामले में सुराग देने वाले को 25 हजार रूपए इनाम देने की घोषणा की थी.

वती का सिर कटा शव हुआ था बरामद

ओरमांझी थाना क्षेत्र के जीराबार जंगल से रविवार को सिर कटा युवती का शव बरामद हुआ था. युवती की उम्र 18 से 22 वर्ष के आसपास है. युवती की लंबाई पांच फ़ीट के करीब, रंग गेहुंआ शरीर की बनावट दुबली-पतली और दाहिने हाथ और दाहिने पैर में काले रंग का धागा बांधा हुआ है. शारीरिक पहचान के रूप में मृतिका के दाहिने पैर के तलवे पर काला रंग का तिल और दाहिना हाथ में भी काला तिल पाया गया है.

शव की पहचान की कोशिश जारी

युवती का सिर धड़ से गायब है. इस वजह से पुलिस शव की शिनाख्त नहीं कर पाई है. रांची पुलिस जिले के सभी थानों से संपर्क कर यह जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही है कि कहीं किसी युवती के गुमशुदगी का मामला दर्ज है या नहीं. पुलिस को घटनास्थल से कोई सुराग हाथ नहीं लगा है, जिसके आधार पर पुलिस हत्यारों तक पहुंच सके. ऐसा लगता है कि युवती की हत्या कहीं और कर उसका शव ओरमांझी में लाकर फेंका गया है. हत्यारों का सुराग ढूंढने के लिए पुलिस ने खोजी कुत्तों मदद ली, लेकिन इसमें उन्हें कोई सफलता हाथ नहीं लगी. हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीम ने घटनास्थल का कॉल डंप भी निकाला है. उस दौरान जो भी फोन घटनास्थल पर एक्टिव हैं, उसकी जानकारी इकट्ठा कर पुलिस मामले की जांच कर रही है.

Related News