Top Stories
  • India
  • 10:48 AM
रांची में सीएम काफिले की पेट्रोलिंग गाड़ी पर हमला

रांची में सीएम काफिले की पेट्रोलिंग गाड़ी पर हमला

Ranchi:  ओरमांझी में युवती के साथ दुष्कर्म के बाद सिरकटी लाश बरामद होने की घटना से उबले सैकड़ों की संख्या में महिला-पुरुषों ने आज शाम करीब 5.45 बजे किशोरगंज चौक पर मुख्यमंत्री का काफिला रोकने की कोशिश की. काफिले के आगे चलनेवाली पायलट गाड़ी को रोक कर क्षतिग्रस्त कर दिया और रास्ता क्लीयर कराने की कोशिश कर रहे ट्रैफिक सिपाहियों और पुलिसकर्मियों के साथ उनकी झड़प हुई. इस झड़प में  कई पुलिसकर्मियों को प्रदर्शनकारियों ने बेतरह पीट दिया. इस भगदड़ में कुछ निजी वाहनों को भी क्षति पहुंची है. हंगामे के कारण मुख्यमंत्री को रूट बदलकर मुख्पयमंत्री आवास जाना पड़ा. इस घटना में कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, जिन्हें 108 एंबुलेंस से अस्पताल भेजा गया है.

पायलट गाड़ी भीड़ में फंसी

दुष्कर्म और हत्या की शिकार पीड़िता को न्याय दिलाने के पोस्टर लिये सैकड़ों की संख्या में महिला-पुरुष करीब 5.45 बजे अचानक किशोरगंज चौक पर तब जमा होने लगे, जब प्रोजेक्ट भवन से मुख्यमंत्री आवास लौट रहे सीएम हेमंत सोरेन के काफिले की पायलट गाड़ी सायरन बजाती वहां से गुजरी. भीड़ जमा होती देख  चौक पर तैनात ट्रैफिक पुलिसकर्मी भी एक्शन में आये और रोड खाली कराने में जुटे, इस पर प्रदर्शनकारी उग्र हो गये और हाथापाई पर उतर आये. हंगामे के कारण चौक पर अफरातफरी मच गयी और दुकानें बंद होने लगीं. इस दौरान सीएम का काफिला भी वहां पहुंच गया. आक्रोशितों ने सीएम का काफिला रोकने की कोशिश की. चौक पर मौजूद ट्रैफिक पुलिसकर्मियों ने किसी तरह स्थिति को संभालने का प्रयास किया. बेकाबू भीड़ उनके नियंत्रण से बाहर होती दिखी. बाद में काफी मशक्कत के बाद सीएम के काफिले को किशोरगंज चौक से किसी तरह बड़ा तालाब की ओर भेजा गया.इस दौरान किशोरगंज चौक पर सैकड़ों की संख्या में आक्रोशित युवा जमे रहे.

क्या था मामला

दरअसल रांची के ओरमांझी में पुलिस ने रविवार को जीराबार गांव के पास स्थित जंगल से युवती की सिरकटी लाश बरामद की थी. युवती का सिर खोजने के लिए दिनभर पुलिस छानबीन करती रही, लेकिन कुछ पता नहीं चला. युवती के शरीर पर कपड़े नहीं थे. ओरमांझी पुलिस का कहना है कि आसपास के लोगों को मौके पर बुलाकर शव दिखाया गया, लेकिन कोई सुराग नहीं मिल पाया.

डीआइजी-एसएसपी मौके पर पहुंचे

घटना की सूचना मिलते ही डीआइजी अखिलेश झा, एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा, उपायुक्त छवि रंजन, ट्रैफिक एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग, और हटिया एएसपी विनीत कुमार समेत अन्य कई पुलिस पदाधिकारी मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी ली.

फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है और सीएम काफिले पर हमला करनेवाले लोगों के बारे में जानकारी जुटा कर उसे गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही है.

Related News